पापमोचनी एकादशी एकादशी व्रत कथा एवं व्रत विधि ।।

पापमोचनी एकादशी एकादशी व्रत कथा एवं व्रत विधि ।। Papmochani Ekadashi Vrat Katha In Hindi जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, चैत्र मास

Read more

मेरी यादों में हर पल मेरे यार रहो ।।

मेरी यादों में हर पल मेरे यार रहो ।। Meri Yadon Me Har Pal Mere Yaar Raho. जय श्रीमन्नारायण,              

Read more

अथ श्री भरत अग्रज अष्टकम् ।।

अथ श्री भरत अग्रज अष्टकम् ।। Shri Bharat Agraja Ashtakam हे जानकीश वरसायकचापधारिन् हे विश्वनाथ रघुनायक देव-देव। हे राजराज जनपालक

Read more

अथ श्रीमदानन्दरामायणांतर्गत श्री भरतकवचम् ।।

अथ श्रीमदानन्दरामायणांतर्गत श्री भरतकवचम् ।। Shri Bharata Kavacham अगस्तिरुवाच- अथः परं भरतस्य कवचं ते वदाम्यहं । सर्वपापहरं पुण्यं सदा श्रीरामभक्तिदं

Read more

राम राज्य का असली अभिप्राय समझें ।।

रघुवंश महाकाव्य के राजा दिलीप का वर्णन करते हुए महाकवि कालिदास कहते हैं कि – जिस प्रकार सूर्य, समुद्र से

Read more

ब्रह्मादि देवों द्वारा गोलोक धाम का दर्शन – गोलोक खण्ड : अध्याय 2 – गर्ग संहिता ।।

ब्रह्मादि देवों द्वारा गोलोक धाम का दर्शन – गोलोक खण्ड : अध्याय 2 – गर्ग संहिता ।। devo dwara golok dham

Read more

नारद जी के द्वारा अवतार-भेद का निरूपण – गर्ग संहिता ।।

गर्ग संहिता – गोलोक खण्ड : अध्याय 1 – नारद जी के द्वारा अवतार-भेद का निरूपण ।। narad ji dwara avatar bhed ka

Read more

ईश्वर ही एकमात्र सत्य है ।।

ऐश्वर्यस्य समग्रस्य वीर्यस्य यशसः श्रियः । ज्ञानवैराग्ययोश्चैव षण्णां भग इतीरणा ॥ अर्थ:- समग्र ऐश्वर्य, शौर्य, यश, श्री, ज्ञान, और वैराग्य

Read more

ज्ञान से बड़ा कुछ नहीं!!

अल्पाक्षरमसंदिग्धं सारवद्विश्वतो मुखम् । अस्तोभमनवद्यं च सूत्रं सूत्रविदो विदुः ।। अर्थ:- अल्पाक्षरता, असंदिग्धता, साररुप, सामान्य सिद्धांत, निरर्थक शब्दों का अभाव

Read more

गुरु भगवान का रूप होता है ।।

गुरु भगवान का रूप होता है ।।Teacher is equal to God 4 विना गुरुभ्यो गुणनीरधिभ्यो, जानाति तत्त्वं न विचक्षणोऽपि ।

Read more