ब्रह्मादि देवों द्वारा गोलोक धाम का दर्शन – गोलोक खण्ड : अध्याय 2 – गर्ग संहिता ।।

ब्रह्मादि देवों द्वारा गोलोक धाम का दर्शन – गोलोक खण्ड : अध्याय 2 – गर्ग संहिता ।। devo dwara golok dham

Read more

गुरु भगवान का रूप होता है ।।

आचरणशील व्यक्ति की सहायता परमात्मा नित्य ।। पुरुषकारमनुवर्तते दैवम् ।। अर्थ:- दैव (परमात्मा) भी पौरुष (पुरुषार्थियों या चरित्रवानों)) का ही अनुसरण

Read more

अथ श्रीऋद्धि स्तवः ।। Shri Riddhi Stavah.

अथ श्रीऋद्धि स्तवः ।। Shri Riddhi Stavah श्रीमन्वृषभशैलेश वर्धतां विजयी भवान् । दिव्यं त्वदीयमैश्वर्यं निर्मर्यादं विजृम्भताम् ॥ १॥ देवीभूषायुधैर्नित्यैर्मुक्तैर्मोक्षैकलक्षणैः ।

Read more

अथ श्रीउज्ज्वल वेङ्कटनाथ स्तोत्रम् ॥ Shri Ujjvala Venkatanatha stotram

अथ श्रीउज्ज्वल वेङ्कटनाथ स्तोत्रम् ॥ Shri Ujjvala Venkatanatha stotram रङ्गे तुङ्गे कवेराचलजकनकनद्यन्तरङ्गे भुजङ्गे शेषे शेषे विचिन्वन् जगदवननयं भात्यशेषेऽपि दोषे । निद्रामुद्रां

Read more

कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है…..।।

मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai.   मेरे सरकार का दीदार बड़ा

Read more

About Guruji

एक परिचय स्वामी श्री धनञ्जय जी महाराज ।। About Guruji.   ‘स्वामी धनञ्जय महाराज’ जो वैदिक आध्यात्मिक वाङ्गमयी व्यास परम्परा कि

Read more